वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए फरीदाबाद में शुरू हुई पहली वर्चुअल कोर्ट

0
78
सेफ ओर सिक्योर फरीदाबाद क्राइम न्यूज, दिनांक 18 अगस्त 2019
पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय द्वारा हरियाणा में ट्रैफिक चालान से संबंधित मामलों के निपटारा के लिए फरीदाबाद में ‘वर्चुअल कोर्ट’ की शुरूआत की है। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायामूर्ति कृष्णा मुरारी ने शनिवार को वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से इस कोर्ट का शुभारंभ किया।जिला एवं सत्र न्यायधीश कमलकांत ने जानकारी देते हुए बताया कि इस वर्चुअल कोर्ट का उद्देश्य न्यायालय में विवादी की उपस्थिति को समाप्त करना और मामले को ऑनलाइन निपटाना है। परियोजना के तहत, ‘वर्चुअल कोर्ट’ में प्राप्त मामलों को स्क्रीन पर जुर्माना की स्वचालित गणना के साथ न्यायाधीश द्वारा देखा जा सकता है। जब एक बार समन जेनरेट होने और आरोपी को ई-मेल या एसएमएस पर जानकारी मिल जाने के बाद, आरोपी वर्चुअल कोर्ट की वेबसाइट पर जा सकते हैं और अपने संबंधित केस का सीएनआर नंबर या अभियुक्त का नाम या यहां तक कि ड्राइविग लाइसेंस नंबर इत्यादि देकर अपना केस सर्च कर सकते हैं। यदि अभियुक्त ऑनलाइन दोषी पाया जाता हैं, तो जुर्माना राशि प्रदर्शित होगी और अभियुक्त जुर्माना भरने के लिए आगे बढ़ सकता है। सफल भुगतान और जुर्माना राशि की वसूली पर मामले का स्वत: निपटारा हो जाएगा। जब अभियुक्त दोषी नहीं है, तो ऐसे मामलों को नियमित न्यायालयों को संबंधित क्षेत्रीय अधिकार क्षेत्र में भेजा जाएगा। वर्चुअल कोर्ट से नियमित अदालतों पर बोझ कम करेगा। निपटान की पूरी प्रक्रिया ऑनलाइन घंटों में होगी। न्यायालयों में लोगों का आना काफी कम होगा क्योंकि अभियुक्तों को दोषी ठहराने के लिए अदालत में जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

किसी भी प्रकार की खबर सांझा करने के लिए संपर्क करे; — हनीश भाटिया – चीफ रिपोर्टर: 99990-48330,
राजेश वशिष्ठ उर्फ बिल्लू – ब्यूरो चीफ/प्रेसिडेंट सेफ ओर सिक्योर ग्रुप फरीदाबाद: 88606-11484