विकास चौधरी हत्याकांड : हेड कॉन्स्टेबल हत्या में संलिप्त, क्राइम ब्रांच ने किया गिरफ्तार- पूछताछ जारी

0
302
सेफ ओर सिक्योर फरीदाबाद क्राइम न्यूज, दिनांक 05 सितंबर 2019
फरीदाबाद: के0 के0 राव पुलिस आयुक्त महोदय के निर्देश पर ए.सी.पी क्राईम अनिल यादव के द्वारा कौशल से की गई गहनता से पूछताछ में खुलासा हुआ है।
विकास चौधरी हत्या के षड्यंत्र में 120 बी आई.पी.सी. के तहत हवलदार राजू को गिरफ्तार कर पुलिस विभाग से बर्खास्त कर दिया गया। ए.सी.पी क्राईम अनिल यादव ने खुलासा करते हुए बताया कि, आरोपी राजू, कौशल, सचिन खेड़ी, अमित डागर नहारपुर रूपा, नीरज फरीदपुर और प्रदीप धारीवाल निवासी कच्चा बदरपुर के संपर्क में था, आरोपी राजू, कौशल की गिरफ्तारी से कुछ समय पहले तक कौशल के संपर्क में था और सचिन खेड़ी की गिरफ्तारी से पहले भी संपर्क में था। आरोपी राजू, कौशल की गिरफ्तारी के पहले से लंबी छूटटी पर चल रहा था।
आरोपी प्रदीप धारीवाल, विकास चौधरी के पास पिछले 5-6 साल से पी.एस.ओ की नौकरी करता था। जिसके पास विकास चौधरी की सभी जानकारियां होती थी। वहीं प्रदीप धारीवाल आरोपी राजू का दोस्त है। आरोपी प्रदीप धारीवाल ने ही विकास चौधरी के मोबाईल न. एवं सभी गतिविधियों के बारे में राजू को भी बताया था और यह भी बताया था कि इन लोगो से हम पैसा एंठ सकते है।
आरोपी राजू ने कौशल को विकास चौधरी, मनोज अग्रवाल एवं अन्य लोगो के कॉन्टेक्ट नं. उपलब्ध कराए थे। जिन लोगो से कौशल रंगदारी मांगता था और सचिन खेड़ी को विकास चौधरी की सभी गतिविधियों के बारे में जानकारियां दी और सचिन खेडी ने राजू से मिली जानकारी के आधार पर विकास चौधरी की हत्या से पहले उसकी गतिविधियों की रेकी की थी।
ए.सी.पी क्राईम ने बताया कि, आरोपी राजू इसके बदले में कौशल गैंग से पैसे लेता था। राजू ने अगस्त के पहले सप्ताह में कौशल की मां से 3 लाख रूपये भी लिए थे।
आरोपी राजू, आरोपी सचिन, अमित डागर एवं कौशल से जुडा हुआ था। अमित डागर व नीरज फरीदपुर, हत्या के केस में भौंडसी जेल में बंद है जो दोनो एक ही ब्लाक में बंद हैं। दोनो एक ही मोबाईल से कौशल से संपर्क करते थे।
क्राईम ब्रांच फरीदाबाद आरोपी अमित डागर को प्रोडेक्शन वारंट पर लेकर पहले ही पूछताछ कर चुकी है। आरोपी नीरज को भौंडसी जेल से प्रोडेक्शन वारंट पर लेकर 4 दिन का पुलिस रिमांड लेकर पूछताछ की जा रही है। आरोपी प्रदीप धारीवाल को विकास चौधरी हत्या केस में अभी-अभी गिरफतार कर लिया गया है जिससे पूछताछ की जाएगी।
प्रोडेक्शन वारंट पर लेकर की जा रही पूछताछ में आरोपी नीरज ने बताया कि कौशल और वह भौंडसी जेल के एक ही ब्लाक में बंद थे जिससे उनकी दोस्ती हो गई थी। जोकि अमित डागर एवं सचिन के भी संपर्क में रहता था।
यहां पर बता दें कि 27 जून की सुबह 9 बजे फरीदाबाद सेक्टर-9 में हमलावरों ने विकास चौधरी को 8 से 10 गोलियां मारी थी। विकास को सर्वोदय अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।
27 जून की सुबह मारी गई थी गोली:
विकास चौधरी हरियाणा कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता थे। विकास कुछ साल पहले ही इनेलो छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे और उन्हें प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. अशोक तंवर के गुट का बताया जाता था। विकास के इनेलो छोड़ने के पीछे फरीदाबाद विधानसभा क्षेत्र से टिकट न मिलना वजह बताई जा रही थी। ऐसे में राजनीतिक हलकों में यह भी माना जा रहा था कि इस बार विकास फरीदाबाद सीट से चुनाव लड़ सकते थे। यह अलग बात है कि आखिकरकार टिकट अवतार सिंह भड़ाना को मिला।
किसी भी प्रकार की खबर सांझा करने के लिए संपर्क करे; — हनीश भाटिया – चीफ रिपोर्टर: 99990-48330,
राजेश वशिष्ठ उर्फ बिल्लू – ब्यूरो चीफ/प्रेसिडेंट सेफ ओर सिक्योर ग्रुप फरीदाबाद: 88606-11484