फरीदाबाद साईबर क्राईम ब्रांच की कस्टडी में युवक की मौत: पुलिस का थर्ड डिग्री देने से इंकार – बीमा रिन्यू करने के नाम पर ठगी करने का आरोप

0
536
सेफ ओर सिक्योर फरीदाबाद क्राइम न्यूज, दिनांक 15 जुलाई 2019 |राजेश वशिष्ठ के साथ हनीश की रिपोर्ट|
फरीदाबाद: बंद बीमा पॉलिसी को फिर से चालू करने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के सदस्य संजय रॉय की सीआईए साइबर क्राइम की कस्टडी में मौत होने का मामला प्रकाश में आया है। मृतक संजय को साइबर अपराध शाखा ने रविवार को पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया था। मृतक की मौत से गुस्साए परिजनों ने पुलिस पर थर्ड डिग्री टार्चर देने का आरोप लगाया। मृतक संजय के शव के पोस्टमार्टम हेतु डाक्टरों की एक टीम गठित की गई है, जो पोस्टमार्टम करेगी। वहीं इस मामले की जांच जीजेएम संदीप चौहान को सौंपी गई है। गौरतलब है कि साइबर अपराध शाखा ने 4 जुलाई को बंद बीमा पॉलिसी को दोबारा से चालू कराने के नाम पर ठगी करने वाले पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर 19 लाख रुपए बरामद कर जेल भेजा था, जिन्होंने कई लोगों से लगभग 29 लाख रुपए की ठगी की थी। साइबर अपराध शाखा की टीम ने 9 जुलाई को आरोपी विक्की को तिहाड़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर पूछताछ की थी। पूछताछ में आरोपी विक्की ने संजय रॉय एवं आरोपी रूपेश का नाम उजागर किया था। आरोपी रुपेश ने ही रविवार को संजय रॉय को गिरफ्तार करवाया थ। दोनों इस केस में वांछित थे । साइबर अपराध शाखा की छापेमारी के दौरान मकान मालिक की हाजरी में आरोपी संजय के घर से 1,55000 व अन्य दस्तावेज बरामद किए गए थे। मौके पर आरोपी मृतक संजय की पत्नी और मकान मालिक ने गवाह के तौर पर हस्ताक्षर किए थे । पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि जब गिरफ्तार आरोपी संजय राय से जांच अधिकारी ने पूछताछ की तो मृतक आरोपी जमीन पर गिर पड़ा। अनुसंधान अधिकारी एवं मौजूद स्टाफ ने तुरंत प्रभाव से मृतक संजय को अपनी गाड़ी से हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां पर मृतक संजय को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि मृतक संजय राय पुत्र अभिजीत राय निवासी सेक्टर-22 फरीदाबाद व मूल निवासी पश्चिम बंगाल अन्य आरोपियों को फ्रॉड बैंक अकाउंट प्रोवाइड करने का काम करता था। पुलिस ने संजय को किसी प्रकार का टॉर्चर करने से इंकार किया है।

साइबर अपराध शाखा में वांछित आरोपी संजय राय की मृत्यु के संबंध में बीके हॉस्पिटल के डॉक्टरों द्वारा चीफ जुडिशल मजिस्ट्रेट की निगरानी में पोस्टमार्टम किया जा रहा है।
जिला फरीदाबाद: साइबर अपराध शाखा की टीम ने दिनांक 9 जुलाई कोआरोपी विक्की को तिहाड़ जेल से प्रोडक्शन वारंट पर लेकर पूछताछ की थी।
पूछताछ में आरोपी विक्की ने आरोपी मृतक संजय रॉय एवं आरोपी रूपेश का नाम उजागर किया था। साइबर शाखा ने आरोपी रूपीस और आरोपी संजय राय के घर पर रेड कर जो दोनों आरोपी घर पर नहीं मिले उनके परिवार को नोटिस दिया गया था कि साइबर सेल में आप इस अपराध के संबंध में हाजिर हो
जिस पर साइबर अपराध शाखा को कल शाम को आरोपी रूपेश ने बताया कि, आरोपी संजय मुझ से मिलने आने वाला है और वही इसमें मुख्य आरोपी है मैं उसके साथ था। मृतक आरोपी संजय एवं रूपेश को कल शाम दिनांक 14 जुलाई 2019 को एफआईआर नंबर 361 थाना सूरजकुंड में पूछताछ हेतु के लिये हिरासत मे लिया था।
साइबर अपराध शाखा की रेड के दौरान मकान मलिक की हाजरी मे आरोपी मृतक संजय के घर से ₹1,55000 व अन्य दस्तावेज बरामद किए गए थे जिसमें आरोपी मृतक संजय की पत्नी और मकान मालिक ने गवाह तौर पर हस्ताक्षर किए थे ।
गिरफ्तार मृतक आरोपी से जब अनुसंधान अधिकारी ने पूछताछ की तो मृतक आरोपी जमीन पर गिर पड़ा।
अनुसंधान अधिकारी एवं मौजूद स्टाफ ने तुरंत मृतक संजय को हॉस्पिटल पहुंचाया।
जहां पर आरोपी संजय को डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।
आरोपी मृतक संजय के पोस्टमार्टम हेतु डॉक्टरों की एक टीम गठित की गई है जो आरोपी का पोस्टमार्टम करेगीऔर मृत्यु के कारणों का पता लगायेगी।
केस की जांच CJM (Chief Judicial magistrate) श्री संदीप चौहान कर रहे है।
आरोपी मृतक संजय अन्य आरोपियों को फ्रॉड बैंक अकाउंट प्रोवाइड करने का काम करता था।
अभी हाल ही में साइबर अपराध शाखा ने बंद बीमा पॉलिसी को दोबारा से चालू कराने के नाम पर ठगी करने वाले 5 आरोपियों को 4 जुलाई को गिरफ्तार कर 19 लाख रुपये , लैपटाप , मोबाइल फोन इत्यादी बरामद कर जेल भेजा गया था।
जिन्होंने कई लोगों से लगभग 29 लाख रुपए की ठगी की थी।
जिसमें साइबर अपराध शाखा लगभग 19 लाख रुपए रिकवर कर चुकी है।
इसी केस में साइबर अपराध शाखा ने मृतक आरोपी संजय को उस्ताद के लिए रास्ते में लिया था।
मृतक आरोपी संजय:-
1. संजय रॉय पुत्र अभिजीत रॉय निवासी मकान नंबर 481 सेक्टर 22 फरीदाबाद ,(पश्चिम बंगाल)
मृतक संजय रॉय के खिलफ निम्नलिखित केस है जिनमे पहले गिरफतार हो चुका है, आरोयी विक्की और रुपेश भी इन सभी केस मे शामिल है। :-
1. FIR No. 815/15 U/s 65,66 IT Act PS Ucha Aahar, Rai Barreli (UP).
2. FIR No. 07/16 U/s 420 IPC PS Rampur Sadar, Haridawar.
3. FIR No. 263/17 U/s 406,420 IPC PS Civil Line Rohtak.
4. FIR No. 361/19 U/s 406,419,420,467,468,471,120B,201 IPC PS Surajkund.
5. Dec-2015 PS Aligarh Gandhi Park UP.
पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि इस केस की न्यायिक जांच संदीप चौहान चीफ ज्यूडिशल मजिस्ट्रेट करेंगे।
सेफ ओर सिक्योर ग्रुप फरीदाबाद इस केस की निष्पक्ष जांच की मांग करता है|
SSF:- UNITED AGAINST CRIME
किसी भी प्रकार की खबर सांझा करने के लिए संपर्क करे; — हनीश भाटिया – चीफ रिपोर्टर: 99990-48330,
राजेश वशिष्ठ उर्फ बिल्लू – ब्यूरो चीफ/प्रेसिडेंट सेफ ओर सिक्योर ग्रुप फरीदाबाद: 88606-11484