पुलिस सुरक्षा बल एवम् व्यापारियों के विरोध के बाद भी हुई सीलिंग, कल मंगलवार को भी कार्यवाही जारी रहेगी

0
325

एस एस एफ क्राइम न्यूज दिनांक 11 फ़रवरी 2019 फरीदाबाद;

नगर निगम द्वारा मंगलवार को भी सैक्टर 9-10 एवं 11-12 की डिवाईडिंग रोड पर सीलिंग की कार्रवाई जारी रहेगी। निगम ने सोमवार को करीब अस्सी प्रतिशत भवनों को सील कर दिया। इनमें प्रमुख तौर पर राजस्थान भवन, जिला इनेलो दफ्तर, टिम्पी फार्म व कई ढाबे भी शामिल रहे। सोमवार को करीब नब्बे भवनों को सील किया गया है। बाकि पचास भवन मंगलवार को सील किए जाने हैं। इस कार्य के लिए निगम प्रशासन ने पुलिस फोर्स मांग ली है।

सोमवार की सुबह करीब दस बजे निगम ने सीलिंग की अपनी कार्रवाई आरंभ की। जैसे ही निगम व पुलिस बल का अमला मार्केट में पहुंचा तो स्थानीय व्यापारी व कांग्रेस के नेताओं ने विरोध शुरू कर दिया। लोगों के विरोध को देखते हुए पुलिस बल सक्रिय हो गया और करीब एक दर्जन व्यापारियों को तत्काल हिरासत में ले लिया गया। कुछ घंटों के बाद उन्हें रिहा कर दिया गया।

तोडफ़ोड़ की कार्रवाई का नेतृत्व कर रहे एक्सईएन ओमबीर सिंह ने बताया कि करीब अस्सी प्रतिशत सीलिंग का काम सोमवार को पूरा हो गया है, बाकि बचे भवनों को सील करने का कार्य मंगलवार को होगा। उन्होंने कहा कि आरडब्ल्यूए की याचिका पर सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने रिहायशी सैक्टरों में व्यवसायिक गतिविधियों को बंद करने का आदेश दिया है। हाईकोर्ट के आदेश पर ही यह कार्रवाई करते हुए व्यवसायिक गतिविधियों को संचालित कर रहे दुकान, ढाबे, फार्म हाऊस व शोरूम सील कर दिए गए हैं। मंगलवार को भी उनकी यह कार्रवाई जारी रहेगी। ओमबीर सिंह के अनुसार इस कार्रवाई के पूरा होते ही कोर्ट में प्रगति रिपोर्ट पेश की जाएगी।

निगम कमिश्नर अनीता यादव इस समचूे प्रकरण में पल पल की रिपोर्ट पर नजर रखे हुए थीं। हालांकि सीलिंग का यह कार्य आसान नहीं था, लेकिन अनीता यादव ने अपनी विल पावर का बाखूबी इस्तेमाल किया और इस कठिन कार्य को हैंडल करते हुए सीलिंग के कार्य को अमल में लाकर दिखाया। सीलिंग की इस कार्रवाई को निगम कमिश्नर की बड़ी कामयाबी माना जा रहा है।

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस नेताओं ने इसे सरकार का तुगलकी फरमान करार दिया है। कांग्रेस के पूर्व विधायक आनंद कौशिक, कांग्रेस प्रवक्ता विकास चौधरी व सुमित गौड़ ने कहा कि जब जब भाजपा सरकार सत्ता में आई है, तब तब लोगों पर बुलडोजर चलाए गए हैं।