गृहमंत्री अमित शाह सुरक्षा दो या इस्तीफा दो : सन्नी बादल/ एनएसयूआई

0
69
सेफ ओर सिक्योर फरीदाबाद क्राइम न्यूज, दिनांक 06 जनवरी 2019 |राजेश वशिष्ठ के साथ हनीश की कवरेज|
दिल्ली/फरीदाबाद: रविवार शाम को JNU मे घुसकर नकाबपोश गुंडों ने हिंसक हमला किया जिसमे करीब 20 छात्र और 10 शिक्षक घायल हुए। घायलों में दो छात्रों की हालत गंभीर है। इस हिंसक के खिलाफ एनएसयूआई ने दिल्ली विश्वविद्यालय आर्ट्स फैकल्टी के गेट से पुरे कैंपस में रैली निकाली गई। और जोरदार प्रदर्शन किया। एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन द्वारा एनसीआर दिल्ली से सैकड़ों छात्र नेताओं को बुलाया गया जिनमे फरीदाबाद एनएसयूआई से GOVT नेहरु कॉलेज के अध्यक्ष सन्नी बादल को बुलाया गया। जिसमें नेहरु कॉलेज के अध्यक्ष सन्नी बादल मौजूद रहे।
इस मौके पर सन्नी बादल ने बताया छात्र संघ की अध्यक्ष आईशी घोष हमले में बुरी तरह घायल हैं और जेएनयू शिक्षक संघ से जुड़े कई नेता भी घायलों में शामिल हैं। हमले में गंभीर रुप से घायल सुश्री घोष, शिक्षक सुचित्रा सेन और करीब 18 छात्रों को एम्स में भर्ती कराया गया। सुश्री घोष को सिर में चोटें आई हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट करके स्वयं पर हुए हिंसक हमले की जानकारी दी। उनके सिर से खून निकल रहा था। गृह मंत्री अमित शाह हम छात्रों को सुरक्षा दो या फिर अपना इस्तीफा दो। सन्नी बादल ने कहा जामिया,IIM,IIT..और अब JNU को बनाया अपना मोहरा, कितनी निर्देयी सरकार है, पहले फ़ीस बढ़ाती है, विद्यार्थी विरोध करें तो पुलिस से पिटवाती है और छात्र तब भी ना झुके, तो अपने गुंडे भेजकर हमला करवाती है। जब से सत्ता में आए हैं, तब से देश के हर कोने में देश के विद्यार्थियों के ख़िलाफ़ इन्होने जंग छेड़ रखी है।
आप जितना भी छात्रों पर अत्याचार कर लो इतिहास यही कहेगा कि आपकी सरकार ग़रीबों के बच्चों के पढ़ने के ख़िलाफ़ थी और देश के विद्यार्थी आपकी इस साज़िश के ख़िलाफ़ उठ खड़े हुए क्योंकि उनकी रगों में गांधी, अम्बेडकर, भगतसिंह और अश्फ़ाक का ख़ून है।
आप आज के द्रोणाचार्य तो बन गए लेकिन याद रखिए 21 वी सदी का एकलव्य आपको अपना अँगूठा नहीं देगा और सर फुडवाना और कटवाना मंज़ूर करेगा। आप हिंसा कराकर अलीगढ़ और जामिया की तरह जेएनयू को भी बंद कराना चाहते है, इस साज़िश को विद्यार्थी बख़ूबी समझते हैं।
फिर कहता हूँ, जितना दबाओगे, उतनी ज़ोर से भारत के विद्यार्थी दोबारा उठ खड़े होंगे और आपकी संविधान और ग़रीब-विरोधी तमाम साज़िशों को ये विद्यार्थी एकजुट होकर नाकाम करेंगे।
हरियाणा में मुंह की खाये, महाराष्ट्र गँवाये; झारखंड ने भगाया, तुमको है डर ने सताया; दिल्ली है नहीं अब दूर, घमंड होगा तेरा चकनाचूर, अब सुनो ओ चश्मेबद्दूर-“छात्रों से टकराओगे, चूर-चूर हो जाओगे”
इस मौके पर एनएसयूआई के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष अक्षय लकरा, राष्ट्रीय सचिव शौर्य वीर,कुणाल शेरावत, डूसू प्रेसिडेंट रहे रॉकी तुशिर, आर एस सैनी, पंकज पटेल खुशबू, ममता, कंचन, सपना गरिमा पूजा, शुरीति चांदनी रिया रितिका।
किसी भी प्रकार की खबर सांझा करने के लिए संपर्क करे; — हनीश भाटिया – चीफ रिपोर्टर: 99990-48330,
राजेश वशिष्ठ उर्फ बिल्लू – ब्यूरो चीफ/प्रेसिडेंट सेफ ओर सिक्योर ग्रुप फरीदाबाद: 88606-11484