इंडोर स्टेडियम, खेल परिसर सेक्टर-12 में दक्ष फाउंडेशन ने “ख्याल अपने बुजुर्गों का” नाम से कार्यक्रम का आयोजन किया: 14 जनवरी किसान भवन में अवॉर्ड सेरेमनी…

0
114
सेफ ओर सिक्योर फरीदाबाद क्राइम न्यूज, दिनांक 13 जनवरी 2019 |हनीश|
फरीदाबाद: कार्यक्रम में जिला रेडक्रॉस सोसायटी की ओर से दिव्यांग-जनों के लिए आर्टिफिशियल लिंब्स का रजिस्ट्रेशन, आर्टेमिस अस्पताल गुरुग्राम के सहयोग से बुजुर्गों और बच्चों का हेल्थ चेकअप किया गया।

श्री यशपाल यादव, उपायुक्त फरीदाबाद बतौर मुख्य अतिथि और श्री अर्पित जैन, पुलिस उपायुक्त, एनआईटी ने कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि के रूप में शिरकत की।

प्रवेश कंसल निदेशक दक्ष फाउंडेशन व एचएस मलिक, महासचिव जाट समाज ने मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि को गुलदस्ते भेंट करके स्वागत किया। मोहन सिंह भाटिया ने मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि महोदय को “ख्याल अपने बुजुर्गों का” बेज लगाया।

मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि महोदय ने कार्यक्रम में बुजुर्गों के लिए हेल्थ चेकअप का भी दौरा किया। कार्यक्रम में जिला रेडक्रॉस सोसायटी की ओर से दिव्यांग-जनों के लिए आर्टिफिशियल लिंब्स का रजिस्ट्रेशन, आर्टेमिस अस्पताल गुरुग्राम के सहयोग से बुजुर्गों और बच्चों का हेल्थ चेकअप किया गया। हेल्थ कैंप में जरूरतमंदों को नि:शुल्क चश्मे भी वितरित किए गए। दादा-दादी, पोता-पोती एक साथ चित्रकला प्रतियोगिता में भाग लिया। बच्चों ने अपने दादा-दादी के साथ उत्कृष्ट ड्राइंग बनाई। दक्ष फाउंडेशन के वॉलिंटियर अंकुर शरण के द्वारा मुख्य अतिथि एवं विशिष्ट अतिथि महोदय को हस्तलिखित वेलकम नोट भेंट किया।

उपायुक्त महोदय ने अपने संबोधन में दक्ष फाउंडेशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम की प्रशंसा की। उन्होंने बताया कि बुजुर्ग ज्ञान और तजुर्बे का भंडार होते है, युवाओं को बुजुर्गों के पास बैठना चाहिए। उनके साथ चीजें साझा करके उनके ज्ञान और तजुर्बे का लाभ ले सकते हैं। आज के युवा उनसे दूर होते जा रहे हैं, जो एकाकी परिवार के कारण यह समस्या ज्यादा बढ़ रही है। इस प्रकार के आयोजन से हम इस समस्या से निदान पा सकते हैं। उन्होंने बताया कि हर दादा-दादी, नाना-नानी का कोई न कोई एक लाडला पोता-पोती व नाती-नातिन होते हैं। इसी तरह मैं भी अपनी दादी का 40 वर्षों तक लाडला पोता रहा और उनके सानिध्य में रहने से बहुत सारी चीजें मैंने उनसे सीखी। आज मैं इस पद पर हूं तो कहीं ना कहीं इसमें मेरी दादी जी का हाथ है।हस्तलिखित वेलकम नोट के लिए मुख्य अतिथि ने आर्टिस्टि की तारीफ की। श्री यादव ने उपस्थित सभी लोगों को बताया कि आपको शायद पता होगा कि भारत का संविधान भी कैलीग्राफी में लिखा गया है जिसकी एक प्रति आज भी संसद भवन में हिलियम में सुरक्षित रखी गई है।

विशिष्ट अतिथि डॉक्टर अर्पित जैन, पुलिस उपायुक्त, एनआईटी फरीदाबाद ने अपने संबोधन में कहा कि समाज में इस तरह के कार्यक्रम होना अति जरूरी है क्योंकि बुजुर्ग अपराधियों के सॉफ्ट टारगेट होते हैं। उनके प्रति अपराध बढ़ रहे हैं। इस तरह के आयोजन से समाज के लोग एक दूसरे से जुड़ते हैं। उनमें आपसी भाईचारे की एवं सहयोग की भावना बढ़ती है। एक दूसरे के संपर्क में रहने से अपराधियों के हौसले भी पस्त होते हैं। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि पुलिस बुजुर्गों की सहायता के लिए हमेशा तैयार है। बुजुर्गों की सुरक्षा के लिए कोई भी सुझाव है तो उनके कार्यालय में आकर उनको दे सकते हैं।
विकास कुमार सचिव, जिला रेडक्रॉस सोसायटी ने उपायुक्त महोदय को कार्यक्रम में आने पर स्मृति चिन्ह भेंट किया।
कार्यक्रम संयोजक सुरेन्द्र सिंह ने मुख्य अतिथि श्री यशपाल यादव और विशिष्ट अतिथि डॉक्टर अर्पित जैन का कार्यक्रम में आने पर धन्यवाद किया। उन्होंने सभी संस्थाओं के पदाधिकारियों, उपस्थित बुजुर्गों का भी कार्यक्रम में आकर शोभा बढ़ाने के लिए धन्यवाद किया।

14 जनवरी किसान भवन में अवॉर्ड सेरेमनी…

किसी भी प्रकार की खबर सांझा करने के लिए संपर्क करे; — हनीश भाटिया – चीफ रिपोर्टर: 99990-48330,
राजेश वशिष्ठ उर्फ बिल्लू – ब्यूरो चीफ/प्रेसिडेंट सेफ ओर सिक्योर ग्रुप फरीदाबाद: 88606-11484